सूचान प्रौद्योगिकी या आईटी क्या है? | Information Technology के बारे में पूरी जानकारी।

इस आर्टिकल से हम जानेंगे- IT क्या है? आईटी कोर्स क्या होता है? आईटी प्रोजेक्ट क्या है? आईटी इंजीनियरिंग क्या है? आईटी कंपनी क्या है? आईटी का मतलब क्या होता है? आईटी सेक्टर क्या होता है? आईटी कंपनी में जॉब कैसे पाये? और आईटी इंजीनियरिंग सैलरी, आईटी कंपनी फुल फॉर्म etc.

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी क्यों जरुरी है?

आज के समय में हम मनुष्यों के लिए टेक्नोलॉजी कितनी महत्वपूर्ण हो चुकी है, इसका अंदाजा भी नहीं लगा सकते। हमारे इर्द-गिर्द हम जितने भी चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं- जैसे मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर, मशीन, इंटरनेट इत्यादि सभी चीजें टेक्नोलॉजी का ही एक रूप है। टेक्नोलॉजी मनुष्य के द्वारा बनाई गई ऐसी चीज होती है जो किसी काम को आसान बना देती है। या समस्याओं को सुलझा दी है। इसके कारण ही हम बहुत ही सुविधाओं का उपयोग कर पा रहे हैं। इसमें लगातार नए आविष्कार और बदलाव भी हो रहे हैं जिससे हमारे काम करने के नए तरीके को लगातार बदलती जा रही है। 

जैसे जैसे जरूरत पड़ती है नयी नयी टेक्नोलॉजी का विकास होता गया है। और यह सिलसिला आगे भी जारी रहने वाला है। आज के आधुनिक टेक्नोलॉजी इंटरनेट है जिसके द्वारा हमें पूरी दुनिया की कोई भी जानकारी तुरंत मिल जाती है। इंटरनेट के द्वारा जानकारियां सूचना का आदान प्रदान आसान हो गया है। आज के समाज में सूचना प्राप्त करना सबसे जरूरी है और यह संभव हो पाया है इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के कारण। आज के समय में आईटी का उपयोग बहुत से क्षेत्रों में किया जा रहा है। फिर चाहे वह एजुकेशन हो बिजनेस हो इंटरनेट हो या फिर मोबाइल हो। आईटी ने मानव जीवन को बदल कर रख दिया है। इसकी डिमांड इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि आज स्कूल और कॉलेज में छात्रों को आईडी के बारे में शिक्षा भी दी जा रही है। 

अब आज के समय में यह इतना महत्वपूर्ण हो ही गया है तो हमने सोचा कि आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़ी सारी जानकारी शेयर कर देते हैं। इसीलिए आर्टिकल को जरूर पढ़िए। पहले आप सभी का स्वागत है के आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े। लेकिन इससे पहले आप सभी का स्वागत है technicalasish.com में जहां पर आपको अच्छी और सही जानकारी प्रदान की जाती है। तो सबसे पहले हम जानेंगे कि-

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) क्या है?

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी जिसे शॉर्ट में IT और हिंदी में सूचना प्रौद्योगिकी कहते हैं। ए एक ऐसा क्षेत्र है जिसके अंतर्गत कंप्यूटर और उस पर आधारित सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन और हार्डवेयर का उपयोग। इलेक्ट्रॉनिक डाटा को create, process, secure और exchange करने के लिए किया जाता है। आसान भाषा में समझे तो आईडी के अंतर्गत कंप्यूटर और टेलीकम्युनिकेशन जैसे सिस्टम का स्टडी डिजाइन मैनेजमेंट किया जाता है। आईटी शब्द का इस्तेमाल व्यापक रूप से व्यापार और कंप्यूटिंग क्षेत्र में उपयोग किया जाता है। कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी सम्भदीत सभी चीजें इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी को प्रस्तुत करती है। जिसका मतलब है कंप्यूटर के द्वारा किए जाने वाले कार्य 

और इससे जुड़ी हुई चीज है। जैसे कि इंटरनेट, नेटवर्किंग, डाटा मैनेजमेंट, सॉफ्टवेयर, इंटरनेट वेबसाइट, डेटाबेस, इत्यादि यह सभी आईडी का ही एक हिस्सा है। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी वह पूरा क्षेत्र होता है जिसमें किसी उद्योग या बिजनेस के अंदर कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी से संबंधित कार्य किए जाते हैं।

पहले के समय में आईडी की जानकारी बहुत कम लोगों को थी। क्योंकि उस समय आईटी का विस्तार नहीं हुआ था। ज्यादातर जगह पर जानकारी या सूचनाओं का संग्रह और आदान-प्रदान बिना कंप्यूटर के माध्यम से ही होता था। इसलिए आईडी के बारे में सिर्फ वही लोग जानते थे जो किसी बड़ी संस्थाओं में काम करते थे, जहां पर बड़ी मात्रा में डाटा को स्टोर करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग किया जाता था। लेकिन पिछले कुछ समय में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी काफी ज्यादा फैल गई है और आज के समय में कंप्यूटर और इंटरनेट की मदद से हर जगह पर काम किया जाता है। आईटी ने आज पूरे विश्व को इंटरनेट, सॉफ्टवेयर और विभिन्न हार्डवेयर के माध्यम से जोड़ दिया है। 

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल

सूचना प्रौद्योगिकी की वजह से इंसान की जिंदगी तेजी से बदल रही है। आज की लगभग सभी मॉडर्न टेक्नोलॉजी आईडी पर ही आधारित है। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में हमें वीडियो, इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर जैसी कई सारे साधन मिले हैं। आज शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग, व्यापार, एंटरटेनमेंट टेलीकम्युनिकेशन आदि सभी क्षेत्र इसे प्रभावित है। पहले के मुकाबले आज के बुस्सिनेस्स एस्ट्रोलॉजी पर बहुत ज्यादा निर्भर होती है। एक बेहतर कम्युनिकेशन से लेकर के ऑनलाइन पेमेंट जैसे महत्वपूर्ण विकल्प के लिए हमें आईडी को अपनाना पड़ता है। व्यापार को बढ़ाने के लिए ऑनलाइन एडवर्टाइजमेंट जो कि आईटी के कारण ही संभव है। इसके माध्यम से लाखों कस्टमर तक पहुंचा जा सकता है। 

ज्यादातर कंपनियां अपने बिजनेस को बढ़ाने और ग्राहकों को बेहतर सेवा देने के लिए इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कर रहे हैं। आईटी का इस्तेमाल करके ग्राहकों को कॉल, ईमेल या ऑनलाइन सपोर्ट से किसी भी समस्या का समाधान किया जा सकता है। सूचना प्रौद्योगिकी के विकास से पुरानी शिक्षा प्रणाली यानी कि एजुकेशन सिस्टम को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है। आज इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन एजुकेशन घर बैठे ले सकते हैं। ऑनलाइन वीडियो और ई बुक से कितना कुछ सीख सकते हैं। ऐसे कई सारे ऑनलाइन एप्लीकेशन से जिस पर लगभग हर विषय के बारे में जानकारी मौजूद रहती है। आईडी के आने से टेलीकम्युनिकेशन के क्षेत्र में भी कई सारी नई सेवाओं के द्वार खुले हैं। कंप्यूटर में ईमेल के द्वारा संचार करने के लिए टेलीफोन नेटवर्क का उपयोग किया जाता है।

एक फोन के अंदर टेलीफोन और इंटरनेट सर्विस को इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी के माध्यम से ही साथ में लाया गया है। आईटी में कंप्यूटर और मोबाइल जैसी तकनीकों का आविष्कार करके हमारे जीवन में मनोरंजन के जीरो साधन मिले हैं। आज मूवीस और म्यूजिक को इंटरनेट के माध्यम से आसानी से एक्सेस कर सकते हैं। और इसके अलावा कई ऐसे एंटरटेनमेंट टूल्स भी है जैसे स्ट्रीमिंग डिवाइस और वीडियो गेम जो आईडी द्वारा बनाए गए हैं। टेक्नोलॉजी के विकास के साथ-साथ ऑनलाइन फ्रॉड और डाटा थेफ्ट जैसी कई सारी समस्याएं सामने आई, इसके बाद इंफॉर्मेशन  टेक्नोलॉजी सिक्योरिटी को बनाया गया। 

इसके अंतर्गत कंप्यूटर नेटवर्क और डाटा जैसे महत्वपूर्ण जानकारी को दूसरों की पहुंच से दूर रखा जाता है। जब कोई व्यक्ति ऑनलाइन पोर्टल के द्वारा अपने बैंक खाते की जानकारी देखना चाहता है तो आईटी सिक्योरिटी यह सुनिश्चित करती है कि केवल वही ब्यक्ति अपने खाते की जानकारी को देख पाए। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने कृषि के क्षेत्र में अंतरिक्ष विज्ञान ऑल सेटेलाइट सिस्टम को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के क्या-क्या फायदे है?

आज के समय में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी यानी कि आईटी और हमारा समाज एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लेकर के ऑनलाइन एजुकेशन के रूप में आईटी का उपयोग हो रहा है। इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी ने नए नए अविष्कार करके मानव की काफी ज्यादा मदद की है। अब इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से हो रहे और भी फायदों के बारे में जान लेते हैं।

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन के क्षेत्र में क्रांति लेकर आया। आज हम  मैसेज, वॉइस कॉल, वीडियो कॉल की मदद से किसी के भी साथ कहीं से भी संवाद कर सकते हैं। आईटी के कारण ही हमें मौसम की जानकारी सही समय पर प्राप्त हो जाती है। पहले का बारिश होगी या नहीं होगी इस बात का पता लगाना बहुत मुश्किल था। लेकिन आज मौसम विभाग के लोग इस्तेमाल से मौसम की जानकारी आसानी से मालूम कर सकते हैं। सूचना प्रौद्योगिकी ने कई नौकरियों का निर्माण किया है। आईटी सेक्टर में अनगिनत पदों पर हजारों लोग काम करते हैं। जैसे कंप्यूटर प्रोग्रामर, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर डेवलपर इत्यादि। इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ने सभी प्रकार के डाटा को सही ढंग से दूर करने और तेज गति के साथ एक्सेस करने की कैपेसिटी को कई गुना बढ़ा दिया है। कुछ टूल जैसे कि वर्ड प्रोसेसर, स्प्रेडशीट, डेटाबेस प्रोग्राम इत्यादि के उपयोग से डाटा को बेहतर तरीके से संभाल कर रख सकते हैं। आईटी कम लागत में इंफॉर्मेशन को स्टोर करने के साथ सिक्योरिटी भी प्रदान करता है। जिससे डाटा की चोरी होना असंभव है।

आईटी कोर्स क्या होता है?

आज के समय में हर जगह इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है। यदि कोई आईटी का कोर्स कर लेता है तो ऐसी कई कंपनियां दुनिया भर में मौजूद है। जहां पर अच्छी जॉब मिल सकती है। आईटी कोर्स के अंतर्गत इनफॉरमेशन सिस्टम का अध्ययन कराया जाता है। जिसमें सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन और कंप्यूटर हार्डवेयर का उपयोग करके इंफॉर्मेशन को store, protect, process, transmit, secure करना सिखाया जाता है। आईटी में कहीं कराए courses करते है। जो 12th परीक्षा पास करने के बाद ही किए जा सकते हैं। आईने में अपना करियर बनाने के लिए बहुत सी अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की कोशिश किए जा सकते हैं। आईटी के फिल्में शुरुआत करने के लिए बहुत सर्टिफिकेट प्रोग्राम और डिप्लोमा कोर्स भी उपलब्ध है। जिस केलिए students को 10th पास होना जरूरी होता है। आईटी का कोर्स करने के साथ अच्छी टेक्निकल स्किल्स जेसे की- प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का होना भी काफी ज्यादा जरूरी होता है। क्योंकि आईटी में करियर बनाने में बहुत काम आती है। 

अंडर ग्रेजुएट आईटी कोर्स पर BE, B-Tech, Bca , Bsc-IT कोर्स लोकप्रिय है। ग्रेजुएट के बाद में क्षेत्र में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स जैसे कि M.E, M.Tech, MCA, M.sc या phd program कर सकते हैं। अंडर ग्रेजुएट का कोर्स को पूरा करने में 3 से 4 साल तक का समय लग जाता है। उसके बाद पोस्ट ग्रेजुएट का समय सीमा 2 साल का होता है। आईडी में बहुत से डिप्लोमा कोर्सेस भी किए जाते हैं। जिससे पूरा होने में 3 से 4 साल लगते हैं। डिप्लोमा कोर्स में डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस, डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी कोर्सेज बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हैं। आईटि में प्रवेश करने के लिए अपने स्किल्स को और भी ज्यादा बेहतर करना जरूरी होता है। इसके लिए शार्ट टर्म सर्टिफिकेट कोर्स किए जा सकते हैं। जेसे कि सर्टिफिकेट कोर्स 6 महीने 1 साल या 2 साल का भी होता है। जो अलग-अलग कोर्स पर निर्भर करता है। 

आईटी कंपनी में जॉब कैसे पाये?

सर्टिफिकेट कोर्स में कयी आईटी के विषय में कोर्स कराए जाते हैं। जेसे क्लाउड कंप्यूटिंग, हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, साइबर सिक्योरिटी, ग्राफिक डिजाइन और एथिकल हैकिंग आदी। कोर्स पूरा करने के बाद का सर्टिफिकेट दे दिया जाता है। आईडी के तमाम कोर्स करने के बाद आप देश और विदेश में इस्थित किसी भी कंपनी में जॉब कर सकते हैं। आईटी सेक्टर में जॉब करने पर काफी अच्छी सैलरी का पैकेज दिया जाता है। अगर आप इस चित्र में जॉब पाने में कामयाब रहे तो आपको अच्छा खासा एनुअल पैकेज्ड भी मिल सकता है। 

आईटी क्षेत्र में नौकरी के प्रकार

तो आईटी कोई एक बिसय नहीं है। बलकी एक बहुत बड़ी इंडस्ट्री है। जो कि एक बहुत बड़ी करियर सुविधा देती है। जैसे कि

  1. Software Engineer 
  2. Programmer 
  3. Web developer 
  4. Technical support 
  5. Computer system analysis 
  6. Network administrators 
  7. System administrator 
  8. IT security 
  9. Network Engineers 
  10. Technology consultant 
  11. Technical sales

कुछ FAQs 

आईटी प्रोजेक्ट क्या है?

आईटी इंजीनियरिंग क्या है?

आईटी कंपनी क्या है?

आईटी का मतलब क्या होता है?

आईटी सेक्टर क्या होता है? 

आईटी इंजीनियरिंग सैलरी?

इन्हे पढ़िए

> What is Internet?

> 10 Things Every Technical Person Should Know.

Leave a Reply